News

सियासी संकट के बीच राजस्थान में 9 अगस्त को सार्वजनिक छुट्ठी का ऐलान

  • 9 अगस्त को आदिवासी दिवस पर होगा अवकाश
  • आदिवासी समाज के लोगों की यह पुरानी मांग थी

राजस्थान में जारी सियासी संकट के बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शुक्रवार को ऐलान किया है कि राज्य में विश्व आदिवासी दिवस पर 9 अगस्त को सार्वजनिक छुट्टी होगी. आदिवासी समाज के लोग विश्व आदिवासी दिवस के दिन जमकर उत्सव मनाते हैं.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने विश्व आदिवासी दिवस के उपलक्ष्य में आगामी 9 अगस्त को संपूर्ण राजस्थान में सार्वजनिक अवकाश घोषित करने का निर्णय लिया है. गहलोत ने आदिवासी समाज के जनप्रतिनिधियों की काफी लंबे समय से चली आ रही मांग पर सार्वजनिक अवकाश घोषित करने का महत्वपूर्ण निर्णय किया है.

उल्लेखनीय है कि 9 अगस्त को विश्व आदिवासी दिवस पर राजस्थान के विभिन्न क्षेत्रों में रहने वाले आदिवासी लोग धार्मिक, सामाजिक एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन करते हैं.

इसे भी पढ़ें — राजस्थान में सीएम बनाम राज्यपाल, गहलोत के मंत्री बोले- बीजेपी कार्यकर्ता नहीं हैं गवर्नर

आदिवासी समाज के लोग इस दिन को आदिवासी परंपराओं और रीति-रिवाजों के उत्सव के रूप में मनाते हुए अपने देवी-देवताओं की पूजा-अर्चना करते हैं तथा सामाजिक उत्सव के रूप में सामूहिक रूप से खुशियों का इजहार करते हैं.

राजस्थान में सियासी संकट बरकरार

इस बीच राजस्थान में सियासी संकट जारी है. सूत्रों के अनुसार मुख्यमंत्री अशोक गहलोत 17 अगस्त को राजस्थान विधानसभा में विश्वास मत पेश कर सकते हैं. गुरुवार को होटल में कांग्रेस विधायक दल की मीटिंग के दौरान मुख्यमंत्री गहलोत ने विधायकों से बातचीत में कहा कि 17 अगस्त तक इसी तरह से एकता बनाए रखनी है.

इसे भी पढ़ें — राजस्थान: 14 अगस्त से विधानसभा सत्र, स्पीकर ने जारी की अधिसूचना

मुख्यमंत्री गहलोत ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) पर निशाना साधते हुए कहा था कि बीजेपी ने ही सरकार गिराने का पूरा खेल रचा है. उनके नेताओं को जनता माफ नहीं करेगी. उन्होंने बागी विधायकों पर निशाना साधते हुए कहा कि विधानसभा सत्र की तारीख तय होने के बाद रेट बढ़ गया है. अनलिमिटेड रेट हो गया है. जिन लोगों ने पहली किस्त नहीं ली है, उन्हें वापस आना चाहिए.

Previous ArticleNext Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *