News

तुलसी, अश्वगंधा, हल्दी…जानें-पतंजलि की दवा में क्या-क्या मिला है

योग गुरु बाबा रामदेव ने मंगलवार को हरिद्वार में कोरोना वायरस की पहली आयुर्वेदिक दवा लॉन्च की. यह दवा बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि ने बनाई जिसके बारे में उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए जानकारी दी. पतंजलि द्वारा द्वारा बनाई गई इस आयुर्वेदिक दवा का नाम कोरोनिल है.

बाबा रामदेव ने कहा कि कोरोनिल दवा को 95 लोगों पर टेस्ट किया गया था. इस दवा के असर से सिर्फ तीन दिन के भीतर 69 फीसदी कोरोना पॉजिटिव मरीज ठीक हो गए. जबकि 7 दिन में 100 फीसदी मरीज रिकवर हुए हैं. दवा के क्लिनिकल ट्रायल में मौजूद एक भी मरीज की मौत नहीं हुई है.

पढ़ें: पतंजलि का दावा- कोरोनिल से 3 दिन में 69%, 7 दिन में 100% कोरोना मरीज रिकवर

कैसे बनाई गई दवा?

प्रेस कॉन्फ्रेंस में योगगुरु रामदेव बोले कि इस आयुर्वेदिक दवा को बनाने में सिर्फ देसी सामान का इस्तेमाल किया गया है, जिसमें मुलैठी-काढ़ा समेत कई चीजों को शामिल किया गया है. साथ ही गिलोय, अश्वगंधा, तुलसी, श्वासरि रस का भी इस्तेमाल इसमें किया गया है.

बाबा रामदेव ने कहा कि दालचीनी, लॉन्ग, पीपली, सोंठ,म मुलैठी, गिलोय, तुलसी, अदरक, काली मिर्च और मुलैठी का काढ़ा हमने पूरे देश को बताया था. उससे भी घरो में रहकर हजारो लोग ठीक हुए हैं. लेकिन एक साक्ष्यों पर आधारित दवा बनाना चुनौतीभरा कार्य था.

Previous ArticleNext Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *