News

कोरोेना के बाद क्या? राहुल आज एक और नोबेल विजेता से करेंगे चर्चा

  • शुक्रवार सुबह 10 बजे यूट्यूब पर चर्चा करेंगे
  • कोरोना के बाद की दुनिया को लेकर होगी चर्चा

कोरोना संकट के बीच केंद्र की मोदी सरकार पर लगातार हमला बोलने वाले कांग्रेस नेता राहुल गांधी शुक्रवार सुबह एक और नोबेल पुरस्कार विजेता से बातचीत करेंगे. इस बार राहुल गांधी ग्रामीण बैंक के संस्थापक प्रोफेसर मोहम्मद युनूस के साथ बातचीत करेंगे.

पार्टी की ओर से जारी बयान में कहा गया कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी शुक्रवार को सुबह 10 बजे प्रसिद्ध बांग्लादेशी अर्थशास्त्री और नोबेल पुरस्कार विजेता मोहम्मद युनूस से चर्चा करेंगे जो उनके यूट्यूब चैनल पर प्रसारित किया जाएगा, जिसमें वे उन विचारों पर चर्चा करते नजर आएंगे जो कोरोना महामारी के बाद की दुनिया को फिर से नए आकार देने पर आधारित होगा.

कोरोना महामारी से पड़े असर और उसके बाद के दौर को लेकर दुनियाभर के दिग्गजों के साथ जारी चर्चा के इस नई कड़ी में, कांग्रेस नेता राहुल गांधी और ग्रामीण बैंक के संस्थापक युनूस शहरी क्षेत्रों में प्रवास करने वाले लाखों लोगों को वापस लौटने और ग्रामीण क्षेत्रों में एक आर्थिक क्रांति को बढ़ावा देने में प्रौद्योगिकी की भूमिका को लेकर चर्चा करेंगे.

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि दुनियाभर में, कोरोना वायरस महामारी ने समाजिक विषमताओं और संकट को बढ़ाने वाली विषमताओं को उजागर किया है.

पीएम पर हमला लगातार जारी

इससे पहले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए गुरुवार को ट्वीट में कहा कि मोदी देश को बर्बाद कर रहे हैं. नोटबंदी, जीएसटी, कोरोना महामारी में दुर्व्यवस्था, अर्थव्यवस्था और रोजगार का सत्यानाश. उनकी पूंजीवादी मीडिया ने एक मायाजाल रचा है. यह भ्रम जल्द ही टूटेगा.

यहूी नहीं इन दिनों राहुल गांधी लगातार प्रधानमंत्री मोदी और उनकी सरकार पर हमला बोल रहे हैं. उन्होंने राफेल खरीद को लेकर मोदी सरकार से एक बार फिर से सवाल पूछे थे.

इसे भी पढ़ें — चीन का सामना करेंगे या छवि की चिंता में हथियार डाल देंगे मोदी: राहुल

उन्होंने पूछा था कि प्रत्येक विमान की कीमत 526 करोड़ की बजाए 1670 करोड़ रुपये क्यों दी गई? 126 की बजाए अब सिर्फ 36 विमान ही क्यों खरीदे गए? एचएएल की बजाए दिवालिया अनिल अंबानी को 30 हजार करोड़ रुपये का कांट्रैक्ट क्यों दिया गया?

Previous ArticleNext Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *