News

कोरोना का असर: तिहाड़ जेल से 3000 कैदियों को छोड़ने की तैयारी

  • तिहाड़ जेल से छोड़े जाएंगे कैदी
  • कोरोना संक्रमण रोकने की तैयारी
  • 3000 कैदियों को छोड़ने की योजना

कोरोना वायरस संक्रमण का असर जेल प्रशासन पर भी देखने को मिल रहा है. दिल्ली स्थित तिहाड़ जेल प्रशासन 3000 कैदियों को रिहा करने की तैयारी कर रहा है. इनमें से 1500 कैदी ऐसे हैं जिन्हें कोर्ट से अलग अलग अपराधों में सजा हो चुकी है. इन्हें अगले 3 से 4 दिनों में पेरोल या फरलो पर छोड़ा जा सकता है.

फैसले पर 3 से 4 दिन में अमल

तिहाड़ जेल के डीजी संदीप गोयल ने कहा कि अगले 3 से 4 दिनों में इस फैसले पर अमल किया जा सकता है. उन्होंने कहा कि करीब 1500 कैदी ऐसे हैं जो विचाराधीन यानी अंडर ट्रायल हैं उन्हें अंतरिम जमानत देकर छोड़ा जा सकता है. डीजी तिहाड़ जेल संदीप गोयल ने कहा कि इससे जुड़ी कानूनी प्रावधानों का अध्ययन किया जा रहा है.

पढ़ें- राहुल के आरोपों पर BJP का पलटवार, कहा- 31 जनवरी से ही मास्क के निर्यात पर बैन

तिहाड़ जेल में लगभगल 17500 कैदी

बता दें कि देश के सबसे बड़े जेल में शुमार तिहाड़ में लगभग 17500 कैदी अपनी सजा काटते हैं. कोरोना वायरस का असर तिहाड़ जेल में भी देखने को मिल रहा है. प्रशासन ने तिहाड़ जेल में एक आइसोलेशन वार्ड बनाया गया है, यहां पर लगातार कैदियों का तापमान चेक किया जा रहा है. जो भी नये कैदी यहां पर आ रहे हैं उनकी जांच की जा रही है और 3 दिनों तक अलग अलग वार्ड में रखा जा रहा है.

पढ़ें- कोरोना से जंग: पंजाब के बाद महाराष्ट्र में भी कर्फ्यू का ऐलान, धार्मिक स्थल बंद

तेजी से बढ़ रहे कोरोना के मरीज

देश में कोरोना वायरस वायरस के मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है. देश में कोरोना पॉजिटिव पेशेंट की संख्या 500 के आस-पास पहुंचने को है. इस वक्त कोरोना के 488 मरीज पहचान में आ चुके हैं. इनमें से 33 का इलाज हो चुका है, जबकि 9 की मौत हो चुकी है. इस तरह देश में कोरोना 446 सक्रिय मरीज हैं. दिल्ली में कोरोना के 29 मरीज हैं, इनमें से 5 का इलाज किया जा चुका है जबकि एक महिला की इलाज के दौरान मौत हो चुकी है.

Previous ArticleNext Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *